सेहत

डिटॉक्स वाटर पीने से होता है वजन, जाने इसके कुछ साइड इफ़ेक्ट

हर व्यक्ति चाहता है कि वह फिट और स्वस्थ रहें। हमारा स्वास्थ्य अच्छा होगा तभी हम सारी अच्छी चीजों में ध्यान दे सकते हैं, अपने काम अपने पढ़ाई लिखाई और परिवार में ध्यान दे सकते हैं। यदि हमारा शरीर स्वस्थ नहीं रहेगा फिट नहीं रहेगा तो हमें तमाम तरह की परेशानियां होने लगेंगे ऐसे में अगर आप भी स्वस्थ रहना चाहते हो,, फिट रहना चाहते हो,, अपने वजन को कंट्रोल में रखना चाहते हो,, मोटापे को कंट्रोल में रखना चाहते हैं तो आपको आज हम बताएंगे डिटॉक्स वाटर के बारे में डिटॉक्स एक ऐसा शब्द है जो बहुत से लोगों के नया हो सकता है लेकिन फिर से जुड़े लोगों को इसका पूरा ज्ञान होगा साधारण तरीके से यदि हम आपको बताएं तो डिटॉक्स का अर्थ है शरीर में जमा गंदगी और विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालना गलत खानपान और प्रदूषण की वजह से दूर मिट्टी की वजह से और ऑयली मसालेदार खाने की वजह से हमारे शरीर में विषैले पदार्थ जमा होने लग जाते हैं,, ऐसे में जिस कारण शरीर का वजन तेजी से बढ़ने लग जाता और यह फैट बढ़ाने का काम भी करता है। शरीर में कई बीमारियां उत्पन्न होने लग जाती है और हमारा शरीर कमजोर होता चला जाता है ऐसे में या बहुत ज्यादा जरूरी होता है कि विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकाला जाए ऐसे में शरीर को डिटॉक्स करने के लिए आप डॉक्टर की सहायता ले सकते हैं जैसे पदार्थों को बाहर निकालने के लिए बहुत ज्यादा अच्छा है डिटॉक्स वाटर को हम सुपर ड्रिंक भी क्या सकते हैं यहां अरे शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है साथ ही शरीर को बढ़ाता है वजन को कम करता है और स्टेमिना बढ़ाने में भी हमारी बहुत मदद करता है ऐसे बहुत से लोगों को डिटॉक्स वाटर किस तरह बनाया जाता है इसके बारे में कोई जानकारी नहीं होगी लेकिन आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे।

डिटॉक्स वॉटर
डिटॉक्स वाटर वजन कम करने के लिए बहुत ज्यादा अच्छा होता है इस एक हेल्दी ड्रिंक भी कहते हैं डिटॉक्स वाटर फलों और सब्जियों को पानी में डालकर बनाया जाता है। इसमें उन्हीं फल और सब्जियों को अत्यधिक मात्रा में शामिल करना चाहिए जिसमें एंटी ऑक्सीजन भरपूर मात्रा में हो इससे पानी में मौजूद नेतृत्व बढ़ जाते हैं जिससे नॉर्मल पानी की तुलना में डिटॉक्स वाटर को पीना सेहत के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है।

इस प्रकार डिटॉक्स वॉटर वजन कम करने के लिए है फायदेमंद
आपको हम बता देना चाहते कि डिटॉक्स वाटर में कैलोरी की मात्रा बहुत ज्यादा कम होती है जिससे यह वजन कम करने के लिए बहुत कारगर है वजन घटाने के लिए डिटॉक्स वाटर पानी पीने की सलाह लोग आपको देते हैं खासकर सोडा और फलों से बने हाय गूगली ड्रिंक्स की जगह यदि आप डिटॉक्स वाटर परसेंट करेंगे फिर भी आप के वजन को कम करने में मदद करेगा पानी पीने से मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ता है जिसे कैलोरी अधिक बार में होती है। ऐसे में आधा लीटर पानी पीने से शरीर का मेटाबॉलिज्म दर लगभग 1 घंटे के लिए 30% तक बढ़ सकता है साथ ही पानी पीने का असर भी पड़ता है खाना खाने से पहले पानी पीते तो भूख कम हो जाती है और आप कम खाते हैं। ऐसे में यदि अब डिटॉक्स वॉटर का सेवन करेंगे तो यह बहुत फायदेमंद होगा यदि आप अदरक डालकर डिटॉक्स वॉटर बनाएंगे तो यह पेट की प्रॉब्लम को दूर करेगा इसके अलावा पानी में गिरा मिला कर पिएंगे तो यह आपकी स्किन और डाइजेस्ट सिस्टम के लिए बहुत अच्छा है और यदि आप इसमें काली मिर्च पुदीना भी मिला देते हैं तो इससे आपकी एसिडिटी की प्रॉब्लम पूरी तरह से खत्म हो जाएगी इस पानी को पीने के बाद आपका पेट भरा भरा रहता है आपको स्नैक्स खाने की क्रेविंग भी नहीं होती है ऐसे में यह आपके वजन को कम करने में बहुत फायदेमंद है।

डिटॉक्स वाटर कितने प्रकार के होते हैं
डिटॉक्स वॉटर अनेकों चीज से मिलकर बनाई जाती है ऐसे में आप बहुत सेव फल सब्जियों को मिलाकर और कुछ मसालों को भी मिलाकर डिटॉक्स वॉटर अलग-अलग तरीकों से तैयार कर सकते हैं। ऐसे में डिटॉक्स वाटर में केवल कटी हुई सब्जियां फल ही डालने चाहिए तो यह आपको बहुत फायदा पड़ेगा पाउडर या लिक्विड फॉर्म में कभी भी पानी में कुछ भी नहीं मिलाना चाहिए तभी यह डिटॉक्स वाटर कहलाएगा ऐसे में कुछ डिटॉक्स वॉटर हैं—
■पुदीना ककड़ी डिटॉक्स वॉटर
■नींबू ककड़ी डिटॉक्स वॉटर
■अदरक हल्दी डिटॉक्स वाटर
■लेमन बैरी डिटॉक्स वाटर
■नींबू अनानास नारियल डिटॉक्स वाटर
■तरबूज तुलसी डिटॉक्स वाटर
■तरबूज पुदीना नींबू डिटॉक्स
■वाटर संतरा नींबू डिटॉक्स वॉटर।

अत्यधिक मात्रा में डिटॉक्स वाटर का सेवन
करने से हो सकता है नुकसान डिटॉक्स वाटर वैसे तो हमारे सेहत के लिए बहुत अच्छा लेकिन इसका अत्यधिक मात्रा में जरूरत से ज्यादा सेवन करना यह आपको फायदे की जगह नुकसान पहुंचा देता है,, इसलिए 1 दिन में आपको सीमित मात्रा में ही डिटॉक्स वाटर का सेवन करना चाहिए। शरीर को यह बहुत हाइड्रेट रखने में मदद करता है। जब बॉडी में ज्यादा पानी की मात्रा हो जाती है तो हाइपोनेट्रिमिया नाम की समस्या हो जाती है ऐसे में शरीर पानी के साथ ऑडियो में कोटेशन जैसे जरूरी electro-light को भी बाहर निकाल देता है। इससे व्यक्ति को अलग-अलग तरह की पेट संबंधी परेशानियां होने लगती है। ऐसे में दिन में 1 से 2 लीटर से ज्यादा डिटॉक्स वाटर का सेवन नहीं करना चाहिए आप को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker