मनोरंजन

KGF स्टार यश असल जिंदगी में है बहुत सीधे साधे, जीते है सरल जीवन, पिता आज भी चलाते है बस

साउथ फिल्म इंडस्ट्री की ब्लॉकबस्टर फिल्म केजीएफ बॉक्स ऑफिस पर 14 अप्रैल 2022 को रिलीज हो चुकी है इस फिल्म ने अपने रिलीज के पहले ही दिन सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और सबसे ज्यादा सक्सेसफुल फिल्म बन गई अभी तक इस फिल्म ने 200 करोड़ का आंकड़ा भी छू लिया है और कहा जा रहा है कि यह एसएस राजामौली की आर आर आर को भी कड़ी टक्कर दे सकती है और भारत की सबसे सक्सेसफुल फिल्म बन सकती है इस फिल्म के किरदारों को भी फैंस के द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है वह चाहे रॉकी यानी कि यश का किरदार हो या फिर आधीरा यानी कि संजय दत्त का किरदार फैंस सभी को काफी पसंद कर रहे हैं इस फिल्म में रवीना टंडन भी अहम भूमिका निभाते हुए नजर आ रही है इस फिल्म में नजर आए सुपर स्टार यश रातो रात स्टार बन चुके हैं और इन्हें काफी पसंद भी किया जा रहा है इतना ही नहीं बल्कि इस फिल्म के बाद कन्नड़ इंडस्ट्री के सबसे ज्यादा फीस लेने वाले अभिनेता भी बन चुके हैं।

3 साल के इंतजार के बाद 14 अप्रैल 2022 को इस फिल्म को थिएटर पर रिलीज किया गया इतना इंतजार इसलिए करना पड़ा क्योंकि कोरोनावायरस के कारण इस फिल्म को आगे बढ़ाया जा रहा था इतना ही नहीं बल्कि पहले से ही फिल्म के दूसरे पाठ के लिए एडवांस बुकिंग को चालू कर दिया गया था जिसके कारण इस फिल्म ने एडवांस बुकिंग से ही ₹200000000 की भारी भरकम रकम कमा ली थी अभी तो फिल्म की शुरुआत ही हुई है इस फिल्म को कहा जा रहा है कि यह फिल्म और भी ज्यादा हिट साबित हो सकती है जहां इस फिल्म से सुपरस्टार बने यश को काफी पसंद किया जा रहा है वही हम आपको बता देना चाहते हैं कि वह एक सहज स्वभाव के इंसान हैं आज इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको यश से जुड़ी कुछ बातें बताने जा रहे हैं।

घर से महेश ₹300 लेकर भागे थे यश एक्टर बनने।
सबसे पहले तो हम आपको बता देना चाहते हैं कि यश का जन्म कर्नाटका में छोटे से गांव भावना में हुआ था उनका असली नाम नवीन कुमार गौड़ा हुआ करता था बता दें कि यश को बचपन से ही एक्टिंग का काफी शौक था इसके लिए वह अक्सर अपने पिता जी से बात किया करते थे कि वह फिल्म इंडस्ट्री में नाम बनाना चाहते हैं लेकिन उनके पापा एक बस ड्राइवर हुआ करते थे ऐसे में फिल्म की दुनिया का भूत उतार अपने बेटे को पढ़ाई लिखाई करने के लिए कहा लेकिन यश के ऊपर फिल्मी दुनिया का इतना जुनून सवार था कि वह महज ₹300 लेकर अपने घर से निकल गए और बेंगलुरु आ गए।

साल 2008 में मिली यश को पहली फिल्म।
घर से ₹300 लेकर निकलने के बाद यश को काफी संघर्ष का सामना करना पड़ा उसके बाद 2008 में जाकर यश को पहला ब्रेक मिला फिल्म का नाम था मोहिनीमंत्र था इस फिल्म में राधिका पंडित एक्ट्रेस के तौर पर नजर आई थी जो कि आगे जाकर उनकी पत्नी भी बन गई इसके बाद यश ने साल 2010 में रिलीज हुई मोदलसल में काम किया इसके बाद यश ने मिस्टर एंड मिसेज रामाचारी, मास्टर पीस, संतु स्ट्रेटफारवर्ड, कीरातका, गूगली, राजा हुली, गजकेसरी जैसी फिल्मों में अपना हुनर दिखाया और इन्हें काफी पसंद भी किया गया और यह सारी फिल्में काफी हिट भी रही।

केजीएफ चैप्टर ने किस्मत चमकाई।
जहां यश ने इतने सुपरहिट फिल्मों में काम किया लेकिन उसके बावजूद भी उनकी फैन फॉलोइंग में जरा भी बढ़ोतरी नहीं हुई हालांकि यश के पास फिल्मों और पैसे की बिल्कुल भी कमी नहीं थी लेकिन फिर भी उनको ज्यादा लोग नहीं जानते थे लेकिन जब यश की केजीएफ चैप्टर वन सिनेमाघरों में रिलीज हुई उसके बाद धीरे-धीरे यश के फैन फॉलोइंग में बढ़ोतरी होती गई और केजीएफ चैप्टर 2 के रिलीज होने के बाद यह एक सुपरस्टार बन गए और आज उनको भारत के हर हिस्से में जाना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker