मनोरंजन

कभी तब्बू के कपड़े स्त्री करते थे रोहित शेट्टी, फिर ऐसे बने फिल्म डायरेक्ट

बॉलीवुड के टॉप टेन डायरेक्टर्स में शुमार किए जाने वाले रोहित शेट्टी को भले कौन नहीं जानता रोहित शेट्टी अपनी एक्शन फिल्म के लिए ज्यादातर जाने जाते हैं रोहित शेट्टी ने हाल ही में एक ब्लॉकबस्टर मूवी सूर्यवंशी रिलीज की है इस मूवी को फैंस के द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है इस फिल्म ने 200 करोड़ का आंकड़ा भी पार कर लिया है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रोहित शेट्टी सूर्यवंशी फिल्म के अलावा दिलवाले, चेन्नई एक्सप्रेस, सिंघम, गोलमाल सीरीज, भी डायरेक्ट कर चुके हैं इसीलिए वह भारत के सर्वश्रेष्ठ डायरेक्टर्स में शुमार किए जाते हैं लेकिन रोहित शेट्टी के इतने सक्सेसफुल होने के पीछे उनके संघर्ष के बारे में बहुत कम लोगों को ही पता है आज इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको रोहित शेट्टी के सक्सेस के पीछे की संघर्ष बताएंगे।

बॉलीवुड में टॉप क्लास एक्शन फिल्में बनाने के लिए जाने जाने वाले रोहित शेट्टी मशहूर स्टंटमैन और विलेन एमबी शेट्टी के बेटे हैं पिता की मृत्यु के बाद रोहित शेट्टी को बचपन में काफी संघर्ष करना पड़ा आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिता के मृत्यु के बाद रोहित शेट्टी के पास बिल्कुल भी पैसे नहीं थे इसीलिए उन्हें अपनी पढ़ाई भी छोड़नी पड़ी और अपने परिवार को पालने के लिए काम करना पड़ा।

शायद आपको जानकर हैरानी होगी कि रोहित शेट्टी की पहली कमाई ₹35 थी अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए रोहित शेट्टी ने बताया कि जब मैंने काम करना शुरू किया तब मेरे पास घर चलाने के लिए बिल्कुल भी पैसे नहीं थे यहां तक मैं अपने स्कूल के फीस भी जमा नहीं कर पाता था इसीलिए मुझे स्कूल छोड़ना पड़ा इसके बाद मैंने काम करने का सोच लिया पैसे कमाने के लिए रोहित शेट्टी ने कपड़ों को इस्त्री करने का काम शुरू किए।

बॉलीवुड में रोहित शेट्टी का पर्दे पर एक्शन और कॉमेडी का कॉन्बिनेशन सभी को बहुत पसंद आता है एक इंटरव्यू में रोहित शेट्टी ने कहा कि इस मुकाम तक पहुंचने के लिए मैंने काफी मेहनत की है उन्होंने कहा कि मैं 1995 में आई फिल्म हकीकत में एक्ट्रेस तब्बू की साड़ियों को स्त्री किया करता था इसके बाद मैं कुछ समय तक काजोल का स्पॉटबॉय भी रहा।

रोहित शेट्टी ने अपने कैरियर की शुरुआत 17 साल की उम्र में ही कर दी थी फिल्म फूल या कांटे में सहायक निर्देशन के रूप में उन्होंने अपना कैरियर स्टार्ट किया अपने निर्देशन की शुरुआत 2003 में 30 साल की उम्र में किया लेकिन फिल्म कुछ खास अच्छी नहीं रही इसके बाद कोई भी उनके साथ काम करने को तैयार नहीं हुआ लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी फिर उन्होंने अजय देवगन से मदद ली और गोलमाल फिल्म बनाई।

गोलमाल फिल्म से ही रोहित शेट्टी को नाम मिला इस फिल्म के बाद उन्होंने बैक टू बैक हिट फिल्में देकर बॉलीवुड के चंद डायरेक्टर में अपना नाम दर्ज करवा लिया आज रोहित शेट्टी की फिल्में 100 करोड़ के क्लब में शामिल होती है इसका उदाहरण सूर्यवंशी है आज बॉलीवुड का हर बड़ा और छोटा अभिनेता रोहित शेट्टी के फिल्म में काम करना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker