सेहत

अगर आपको नाखून चबाने की है गंदी आदत तो हो जाये सावधान, हो सकती है ये बीमारियां

आपने भी अपने बचपन में नाखून चबाने की आदत का सामना किया होगा। दुनिया भर में आधे से ज्यादा बच्चे और किशोरों को नाखून चबाने की आदत होती है। कई बार तो यह परेशानी बड़े-बड़े लोगों में भी देखने को मिलती है लेकिन आखिर यह नाखून चबाने की आदत लोगों को क्यों लगती है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं कई बार तो आपने यह भी देखा होगा कि कुछ लोग जब डरे हुए रहते हैं तो नाखून चबाते हैं। इसके अलावा कुछ लोग नर्वस होते हैं तब वे लोग नाखून चबाते है, वैसे तो नाखून चबाने की आदत अस्थाई होती है और इससे आमतौर पर किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता लेकिन कुछ मामलों में नाखून चबाने किसी बड़ी बीमारी गंभीर बीमारियों का कारण भी बन सकती है। ऐसे में अगर देखा जाए तो लोग हर एक छोटी बात में अपने मुंह में नाखून डालकर कुतरने लगते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस बुरी आदत से कई बड़ी बड़ी बीमारियां हमें दस्तक दे सकती है। जी हां हम यही आपको बताने जा रहे हैं कि यह बहुत ही गंभीर बीमारियों का कारण भी बन सकती है। उन लोगों को जो ऐसा करते हैं उन्हें बहुत ही परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है तो आज इस आर्टिकल में हम बताने जा रहे हैं कि आखिर नाखून चबाने की वजह से कौन-कौन सी बीमारियां हमें परेशान कर सकती है।

आखिर किस वजह से चबाते हैं लोग नाखून
बहुत से लोग हैं जो नाखून चबाते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके पीछे साइंस क्या कहता है बहुत से रिसर्च में और मेडिकल रिसर्च में इस बात को कहा गया है कि यह एक पैथोलॉजिकल मौखिक आदर है जिसकी वजह से उंगली के नाखून के साथ ही आसपास के टिशूज को भी नुकसान हो सकता है। वैसे तो नाखून चबाने के कोई निश्चित वजह नहीं है लेकिन आमतौर पर यह आदत बचपन में ही शुरू हो जाती है किसी व्यक्ति में यह आदत क्यों और कैसे लग जाती है। इसका भी कोई स्पष्ट परिणाम अभी तक प्राप्त नहीं है लेकिन एक बार इस चीज की आदत लग जाए तो यह छुट्टी नहीं है किसी व्यक्ति में यह आदत होना उसे बहुत सी बीमारियों और मानसिक बीमारी का संकेत देता है।

नाखून चबाने की वजह से हो सकती है यह सभी बीमारियां

एंग्जाइटी हो सकती है इसके पीछे का कारण
जी हा लोगों को नाखून चबाने की आदत होती है उन लोगों में इसकी वजह एंग्जाइटी या फिर बेचैनी महसूस होना होता है इसका कारण यह है कि नाखून चबाने से तनाव टेंशन और नीरसता या फिर उबाऊ पन दूर करने में आपको मदद मिलती है।

हो सकती है परमानेंट डिसेबिलिटी
आपको हम बता दें कि यदि आपको नाखून चबाने की बहुत बुरी आदत है और बार-बार आप नाखून चबाने लगते हैं तो मुंह के अंदर नाखून डालने वालों के शरीर में पैरों में सिया जैसी बीमारियां और बेकार चीजें प्रवेश कर जाती है इससे आपका शरीर अनियंत्रित हो जाता है ऐसे में हाथ और पैर के जॉइंट प्रभावित हो सकते हैं इस समस्या को सेप्टिक अर्थराइटिस भी कहा जाता है इसका इलाज करना मुश्किल हो जाता है इसे परमानेंट डिसेबिलिटी का कारण मानते हैं।

कर सकती पेट संबंधी परेशानियां उत्पन्न
आप कभी भी किसी भी जगह पर नाखून चबाने लगते हैं अपने मुंह में नाखून डालने लगते हैं तो इसके साथ बहुत से बैक्टीरिया अभी हमारे शरीर में प्रवेश कर जाते जिसके बल पर या पेट संबंधी परेशानी उत्पन्न करती है जो कि आपको बहुत ज्यादा परेशान कर सकती है।

बैक्टीरियल समस्याएं कर सकती है उत्पन्न
नाखून चबाने की आदत की वजह से विभिन्न प्रकार की बैक्टीरियल इनफेक्शन भी हो सकती है ऐसे में आपकी स्क्रीन पर टीसुज डैड लालिमा जैसी परेशानियां हो सकती है नाखून के अंदर कई तरह की गंदगी मौजूद होती है जो मैं खुद जवाब समय हमारे अंदर चली जाती है जो कि हमें बहुत से बैक्टीरिया इन्फेक्शन का कारण बन सकती है।

नाखूनों के टिशूज भी हो सकते हैं बहुत ज्यादा खराब
जी हां नाखून चबाने या फिर काटने की वजह से नाखून के अंदर के टिशूज खराब हो जाते कुछ लोग में बार-बार ना कुछ अब आने की बहुत बुरी आदत होती जिसकी वजह से यह आपके नाखून परमानेंटली डैमेज हो जाए ऐसा जाते हैं साथ ही साथ इस बाड़ भी रुक जाता है।

दांतों को कर सकता है खराब
जी आना को चबाने की आदत की वजह से आपको दांत संबंधी विभिन्न प्रकार की परेशानियां भी उत्पन्न हो सकती है बार-बार नाखून चबाने के कारण आपके दांत टूट सकते हैं साथ-साथ लोगों की बातों में दरारे आ जाती है और गंदगी का भी कारण या बनती है इसलिए आपको नाखून चबाने की आदत को जल्दी से जल्दी छोड़ देनी चाहिए।

मसूड़ों में भी उत्पन्न हो सकती है विभिन्न परेशानी
जहां बार-बार नाखून चबाने की वजह से नाखून के कांड जो होते हैं वह दातों में फस जाते हैं ऐसे में मसूड़ों से खून आने की समस्या मसूड़ों में दर्द की समस्याएं देखने को मिलती है इसलिए आपको यह सब से बचना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker